गुरुवार, 7 सितंबर 2017

सोनू सवामणी ने किया कागला एप लॉन्च।

खेबी एक्सप्रेस

ब्रेकिंग न्यूज़
www.sanwariyaa.blogspot.in

सोनू सवामणी ने किया कागला एप लॉन्च।

मरुटर इंजीनियरिंग कॉलेज बीकानेर के पूर्व छात्र रहे सोनू सवामणी ने प्रधानमंत्री जी के स्टार्टअप मुहिम से प्रभावित होकर पितृ पक्ष में कागला एप लॉन्च कर लोगों को सुविधा पहुंचाने के लिए घर बैठे कागला सर्विसेज का नया स्टार्टअप शुरू किया है। खेबी के संवाददाता लाला लफाड़िया को दिए अपने साक्षात्कार में सोनू सवामणी ने कहा कि आजकल अखिल भारतीय कागला संघ ने बैठक करके पितृ पक्ष में अपने भाव बढा नोखे हैं। आजकल डागले पर कोवस कोवस करते करते बापड़ा मिनख पसिजगार हो जाता है पर कागले उसके डागले की और मूंडा तक नहीं करते। अतः इस तसिये से कंफ्यूजन भी हो जावता है कि कहीं पितृ रीसाणे तो नहीं हो गए हैं। इस समस्या से निपटने के लिए उनकी टीम ने 50-60 कागले पाले हैं और उतने ही बेरोज़गार लोगों को नौकरी पर भी रखा है। हर बंदे के पास स्मार्ट फोन भी होगा तथा उनकी कंपनी का हर बंदा कागला किट भी सागे राखेगा। इस कागला किट में एक हवादार एवं इको फ्रेंडली थैले की अंदर एक कागला बिठाया गया है। अब कोई भी व्यक्ति पितृ पक्ष अथवा अपने परिजनों की पुण्यतिथि के समय इस कागला एप के जरिये कम से कम 3 दिन पहले अपनी रिक्वेस्ट भेज सकता है जिससे कि कागला उपलब्धता के आधार पर पहले ही बुक किया जा सके। नीयत तिथि को कंपनी का बंदा अपनी कागला किट के साथ हाज़िर हो जाएगा और अपने इको फ्रेंडली थैले का चैन लगोड़ा छोटोड़ा मूंडा खोल कर कागले का बाका उसमें से बाहर निकाल देगा अब जजमान कागबोल की थाली जैसे ही कागले की चूंच के सांमे धरेगा वैसे ही कागला उस मे से माल सूँतना शुरू कर देगा और इस तरह लोगों को डागले चढ चढ कर काग़लों को हेला मारने से निजात मिल जाएगी। एक कागले को एक दिन में अधिकतम 3 जजमानों के यहां ही भेज जाएगा। इस सर्विस का शुरुआती शुल्क 251 रु मात्र रखा गया है। जनसेवा की भावना से शुरू किए गए इस स्टार्टअप को लेकर शहर के प्रबुद्ध जिमाकियों ने सोनू सवामणी और उनकी टीम की भूरी भूरी प्रशंसा की है। बीकाणा स्वासणा संघ ने भी इस कदम का स्वागत ये कहते हुए किया है कि जब तक कागबोल नहीं निकलता तब तक नानोणे वाळे हम स्वासणो तक की थाळी नहीं पुरसते पर अब इस एप के आने से हर स्वासणे को समय पर जीमण की सुविधा मिल पाएगी। ज्ञात रहे कि सोनू सवामणी कॉलेज के ज़माने से ही बिच्छू भा, ड्रा महाराज, डॉ केडबरिमल और विचित्रसेन जैसे मनीजोडे लोगों का पक्का भायला रहा है। वहीं कागला संघ के अध्यक्ष काका क्रो कुमार ने ट्वीट कर अपनी भड़ास काढते हुए लिखा है "सोनू थने म्हारे पर भरसो नहीं की"।
www.sanwariyaa.blogspot.co.in

copy disabled

function disabled